छुटियों में मन को शांत कर सकते है, अगर आप कही घूमने जाने के बारे मे सोच रहे है

छुटियों में मन को शांत कर सकते है, अगर आप कही घूमने जाने के बारे मे सोच रहे है,






सभी चाहतें है छुटियों में वो अपने परिवार के साथ कही घूमने जायँ, ओर शरीर और दिमाग को थोड़ा आराम देना चाहते है,


मगर कही घूमने जाने से पहले, हमेशा मन मे एक ही बात सबसे पहले अति है, सभी एक नई जगह जाना चाहते है, जिस से मन को शांति और काम के सभी चिंताओं को भूल जाएं,


जो मन को शांति देती हो कैसीे जगह होनी चाहिये?


मन को हमेशा ऐसे जगह ही लुभाती है, जैसे जगह से आप दूर रहते है,


उधारन के लिये,


अगर आप भीड़ भाड़ वाले शहरों में रहते है,

तो आपका मन एक शांत जगह को ढूंढ़ता है ऐसे वियक्तिओं के लिये,

हरि भारी वादियां सबसे उत्तम होता है, जैसे पहाड़।


पहाड़ उन वियक्तिओं का मन बहुत लुभाता है जो भीड़ भाड़ वाले शहरों में रहते है, हमेशा शहरों में रहने से, प्रदूषण से मन मे चंचलता बहड़ जाती है पहाड़ उन वियक्तिओं का मन शांत करने में बहुत फ़ायदेमन्द होता है।


दूसरी ओर जे मानना भी गलत नही है

जो पहाड़ों में रहते है, उनका मन शहरों की तरफ खींचता है,


किया पहाड़ों में रहने वाले वियकती को, शहर जाने से फायदा होता है?


जो वियकती जन्म से पहाड़ में रहता है,

उनके लिये समसया हो सकती है, ज्यादा समसया उन वियक्तिओं को होती है जो पहाड़ के उन ऊचाइयों में रहते है, जहां हवा और ऑक्सीज़न की मात्रा कम होती है,

उन वियक्तिओं को कुछ इंफैक्शन हो सकती है,

ओर कान के पर्दे में ज्यादा दबाव से कान दर्द हो सकती है मगर जे समसया ज्यादा 21 दिन से 36 दिन तक ही रहती है,

मगर जे भी जान लेना जरूरी है, शहर जाने से सब नुकसान ही नही होता फ़ायदे भी होते है,

हम पहले ही बात कर चुके है, एक ही जगह रहने से मन मे चंचलता का हो जाना बड़ी बात नही है,

अगर आप शहर में रहते है, तो मन शॉन जगह को ढूंढ़ता है,

पहाड़ों में जो रहते है, उनके लिये पहाड़ कोई भी नजारा मन को शांतिपूर्ण उमीद में खड़ा नही उतरता, उनके लिये, शहर में बहुत चीजे उनके मन को शांत कर सकते है,


अपने दुखी मन को कैसे बदलें?


अगर आपका मन दुखी है, ओर अपने मन को बदलना चाहते है,


हम आपको कुछ टिप्स देते है जो आपके मन को बदलने में सहायक होंगे,


इसके लिये सबसे पहले अपने मन में जो हलचल चलरही है उसको शांत करने की कोशी करें,

ओर जरूरी है ऐसे समय मे आपको अकेला नही रहना चाहिये, ऐसा करने से आप अपने आपको ही दुखी रखने वाली बात हो जाती है,


खाली पेट मत रहो खाली पेट गुस्सा ज्यादा आता है

आम तौर पर आपने भी जे कभी महसूस किया होगा,


कोई ऐसी जगह जायँ जहा आप कभी नही गये हो,

विज्ञान कहता है नई जगह हमारे मन को आकर्षित करती है, ओर हमारे मन को बहुत ज्यादा प्रभावित करती है,


जिस पर आप भरोसा करते है उन से अपनी समसया सांझा करें, किसी को बताने से अगर समसया खत्म नही होती फिर भी आपके लिये जे फायदेमंद है,

मन ऐसी बातों से भी शांत होता है, जब आप किसी पे भरोसा कर उनको अपने मन की बात को सांझा करते है।



vitamin A health news hindi



जैसे ही उम्र के साथ सब कुछ बदलता है, आपकी योनि में भी बदलाव आते है।




हेपेटाइटिस सी क्या है? महिलाओं में हेपेटाइटिस सी के लक्षण क्या हैं?






SITE MENU

PHOTO SHAYARI

RAJNE

HEALTH NEWS HINDI

MAGIC-WISHES

MOBILE SE HELP




Previous
Next Post »